Fish Farming Business : मछली पालन का बिजनेस कर, करें लाखों की कमाई

Fish Farming Business : यदि आप बेरोजगार (Unemployed) हैं या फिर कोई साइड बिजनेस (Business) की सोच रहे हैं तो बिना देरी किए मछली पालन (Fish Farming) का व्यवसाय शुरू (Start Business) कर दीजिए। मछली पालन के व्यवसाय ( Fish Farming Business ) के लिए आपको अत्यधिक मेहनत या बहुत ज्यादा पढ़े लिखे होने की जरूरत नहीं है। मछली पालन में इतनी जल्दी और ज्यादा कमाई किसी अन्य बिजनेस (Business) में नहीं है। मछली पालन (Fish Farming) से आपका अमीर होने का सपना जल्द ही साकार हो सकता है।

fish farming business

हमारे भारत में मछली का सेवन भारत की लगभग 70% से अधिक की जनसंख्या करती हैं। और डॉक्टरों द्वारा इसे सबसे अच्छा मास बताया गया है। मछलियों के बारे में एक्सपर्ट्स का कहना है कि “मछली का मांस छत्तीस रोग मारता है।” इसलिए मछली पालन (Fish Farming) मेरी राय में सबसे किफायती और अक्ल का बिजनेस है।

मछली पालन व्यवसाय के लिए महत्वपूर्ण बिंदु क्या हैं?

मछली पालन (Fish Farming) के लिए सरकार द्वारा KCC यानी किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) पर भी लोन की सुविधा उपलब्ध कराई जा चुकी है, सरकार मछली पालन (Fish Farming) को बढ़ावा देने के लिए ब्याज में छूट एवं कई बार तो सरकार Loan माफ तक कर देती है। क्योंकि मछली ही एक ऐसा जीव है जो बच्चों से लेकर बूढ़े तक का फेवरेट खाना है। मछलियों में प्रोटीन एवं विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। और सबसे बड़ी बात इसका प्रयोग दवाइयां बनाने में सबसे ज्यादा किया जाता है।

मछली पालन (Fish Farming) के लिए कुछ आवश्यक एवं महत्वपूर्ण बिंदु निम्न लिखित है –

1. मत्स्य पालन के लिए स्थान (Place for Fishing)

मछली पालन व्यवसाय (Fish Farming Business) के लिए आपको पुरानी तकनीक की आवश्यकता नहीं है। न्यू टेक्निक के जरिए कम लागत में ही आप मछलियों के लिए पानी या रहने की व्यवस्था कर सकते हैं । पुराने जमाने में मछली पालन के लिए उद्यमियों को अपने खेतों में तालाब खुदवाना पड़ता था या फिर किसी अन्य को अत्यधिक किराया देकर मछली पालन व्यवसाय करना पड़ता था परंतु अब ऐसा करने के लिए आपको बहुत ही कम जगह में लाखों मछलियों का व्यवसाय किया जा सकता है।

2. तालाब या टैंक का निर्माण (Pond or Tank Construction)

मछली पालन (Fish Farming) के लिए यदि आप अपना कीमती समय बचाना चाहते है तो बाजार में प्लास्टिक के भी बड़े बड़े टैंक मिलते हैं उसका इस्तेमाल कर कम जगह में भी काम चला सकते हैं , और यदि आप तालाब के इच्छुक हैं तो सरकार द्वारा इसके लिए खेत तालाब योजना चलाई जा रही है जिसके जरिए 50% तक की सब्सिडी भी दी जा रही है आप इसमें आवेदन कर लाभ ले सकते हैं । तालाब मछली पालन के लिए सबसे अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

3. मछलियों की नस्ल का चुनाव (Selection of Fish Breeds)

मछली की ब्रीड (Fish Breed) के चुनाव को लेकर आपको मछली की प्रजाति, मछली की लंबाई, वजन, आदि का ध्यान रखना एवं मछलियों की संख्या में वृद्धि प्रतिशत को भी महत्त्व देकर ही चयन करना है। पलने योग्य मछलियों की कुछ प्रजातियां प्रमुख है जो नीचे दी गई हैं –

  • रोहू
  • कतला
  • मृगल
  • टूना
  • हिसला
  • ग्रास कॉर्प
  • सिल्वर कॉर्प
  • कॉमन कॉर्प

4. मछलियों के लिए चारा (Bait for Fish)

कुछ नस्ल की मछलियां जल्दी वृद्धि कर जाती हैं क्योंकि वे तालाब में ही अपना भोजन ढूंढ लेती हैं जैसे यदि तालाब काफी पुराना है तो उसमे कई सारे खाने योग्य कीड़े मकोड़े या पौधे उगते रहते हैं मछलियां इन्हे बड़े चाव से खाती हैं । लेकिन कुछ मछलियों के लिए उद्यमियों द्वारा अलग से खाने का प्रबंध करना होता है जैसे – बाजार में उपलब्ध होने वाला फिश फूड, या घर का आटा, चावल आदि , मछलियों के वजन एवं आकार में वृद्धि के लिए इसमें 5 से 10 ग्राम प्रोबायोटिक्स मिलाकर मछलियों को Day feed दिया जाता हैं।

5. मछलियों के रोग की रोकथाम (Fish Disease Prevention)

मछलियों में रोग (Fish Disease) तो बहुत ही कम होता हैं किंतु कुछ जलनखोर तालाब में कुछ विषैला पदार्थ भी मिला देते हैं तो इससे सावधान रहने की जरूरत है एवं तत्काल में ही अपने नजदीकी Fish Care or Fish Expert को सूचित करें ।

मछली पालन व्यवसाय में अधिक मुनाफा कैसे कमाएं? (More profit in Fish Farming Business)

Fish Farming में आपको सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान से पढ़ने की जरूरत है और हम मछली Business में जरूरी एवं उपयोगी मार्केटिंग प्लान (Marketing Plan) की जानकारी भी स्टेप बाय स्टेप निम्नलिखि हैं –

  1. मछली पालन (Fish Farming) एक बड़े पैमाने पर होने वाला बिजनेस (Business) है इसमें काफी बड़े बड़े उद्यमी विदेशों में भी फिश सप्लाई (Fish Supply) करते हैं । इसलिए इसमें कुछ कागजी Formalities भी होती हैं।
  2. मत्स्य पालन (Fish Farming) खाने पीने एवं औषधियों से जुड़ा हुआ बिजनेस है इसीलिए इसमें FSSAI से लाइसेंस या प्रमाण पत्र होना भी बहुत जरूरी है।
  3. मछली पालन व्यवसाय (Fish Farming Business) में यदि आपका निवेश कम से कम 100000 रुपए है तो इससे आपको 5 गुना तक यानी 500000/- पांच लाख रुपए तक का लाभ हो जाता है।
  4. यदि आप मछली पालन (Fish Farming) के लिए सरकार से लोन लेते हैं तो आपको 75% का अनुदान केंद्र एवं राज्य दोनो सरकारें देती हैं।
  5. मत्स्य पालन (Fish Farming) में आपके Business को बढ़ावा देने के लिए सबसे उपर्युक स्थान मच्छी बाजार ( मछली मंडी ) है। जो लगभग सभी शहरों में होती है। आप अपनी मछलियां इसी बाजार में सप्लाई कर मोटी कमाई कर सकते हैं।
  6. अपने गांव या कस्बे में आपकी मछलियां तो तालाब से या आपके फिश फार्म से ही बेच सकते हैं इसमें आप ट्रांसपोर्ट का खर्च भी बचा सकते हैं जो काफी किफायती है।
  7. आपका सबसे अधिक मुनाफा औषधियों के रूप में अपनी मछलियों की प्रयोगशालाओं या दवाओं की मैन्युफैक्चरर कंपनियों में सप्लाई करके हो सकता है जो की मछली पालन का सबसे अच्छा तरीका है।

Leave a Comment