Gobar Dhan Yojana: सरकार की इस योजना में करें आवेदन, मिलेगा बेहतरीन लाभ

Gobar Dhan Yojana: सरकार की इस योजना में करें आवेदन, मिलेगा बेहतरीन लाभ

Gobar Dhan Yojana: दोस्तों! 1 फरवरी 2018 को केंद्र सरकार ने गोबर-धन योजना की शुरुआत की। इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसान भाइयों के पशुओं द्वारा पैदा किये गए गोबर, खाद को इकट्ठा करके उसका कम्पोस्ट (Compost) खाद बनाया जाना है जिसके बदले में किसान को पैसा दिया जाता है। इस तरह से किसान भाइयों को आर्थिक मदद पहुचायी जाती है और पशुओं का गोबर भी सड़ कर बर्बाद नही होता। 

Gobar Dhan Yojana

Gobar Dhan Yojana

गोबर खाद को इकट्ठा करने के लिए हर जिले में एक कलेक्टर होता है और उस कलेक्टर में भी 700 छोटे छोटे कलेक्टर होते हैं। 

इस योजना के क्रियान्वयन के लिए केंद्र सरकार 60% का योगदान करती है तथा राज्य सरकार 40% का योगदान करती है।

गोबर-धन योजना के उद्देश्य 2022

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि देश में बहुत अधिक अस्वच्छता है, जिसका सबसे अच्छा उदाहरण ग्रामीण क्षेत्र हैं। स्वच्छ भारत मिशन के स्वच्छ गाँव बनाने के लक्ष्य को गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना 2022 (ग्रामीण) द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना के माध्यम से बायोगैस और बायो-सीएनजी के उत्पादक उद्यमियों को जैविक खाद की आपूर्ति कर सकेंगे। इनमें ठोस अपशिष्ट और पशु मलमूत्र के संग्रह को प्रोत्साहित करना शामिल है। यह कार्यक्रम अब किसान की गाय के मल को स्वच्छ बायोगैस में बदल देगा, जिससे सामान्य रूप से ग्रामीण निवासियों और विशेष रूप से महिलाओं को मदद मिलेगी।

इस योजना से देश के किसानों का राजस्व भी दोगुना हो जाएगा। इस योजना का लक्ष्य राष्ट्रीय स्वच्छता बनाए रखना है। यह योजना ग्रामीण किसानों को आत्मनिर्भर बनने में मदद कर सकती है।

गोबर धन योजना 22 . की विशेषताएं

  • इस ठोस अपशिष्ट और गोबर का उपयोग ग्रामीण किसान अपनी फसलों में खाद, उर्वरक, बायोगैस और जैव ईंधन के रूप में कर सकते हैं।
  • केंद्र सरकार अन्य कार्यों को भी अपना रही है, जैसे गांवों में विभिन्न स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलना, ग्रामीण व्यापार केंद्र के बुनियादी ढांचे को बढ़ाना, गांवों और शहरों के बीच संचार बढ़ाना और उच्च शिक्षा सुविधाएं खोलना।
  • राष्ट्रीय सरकार के इस कदम से बीमारी दर में कमी आएगी क्योंकि ग्रामीण क्षेत्र भी स्वच्छ होंगे। इसके अतिरिक्त, जानवरों और अन्य जैविक स्रोतों से निकलने वाले कचरे से अधिक ऊर्जा और धन का उत्पादन होगा।
  • केंद्र सरकार ने इस कार्यक्रम के लिए 115 जिलों को चुना है, जहां विभिन्न प्रकार की सामाजिक सेवाओं में पैसा लगाया जाएगा और उन्हें रोल मॉडल के रूप में बढ़ावा दिया जाएगा।

गाँव की गंदगी भी होगी साफ (Villages will also be clean)

जैसा कि हम सभी देखते हैं गांवों में पशुओं की संख्या ज्यादा होती है इस वजह से वहाँ गोबर और खर पतवार भी अधिक मात्रा में होते हैं। इनको खेतों में डाल दिया जाता है लेकिन ये उतनी अच्छी खाद नही बन पाती है और खेत मे सड़ जाती है जिससे फसल को कोई फायदा तो नही होता बल्कि नुकसान ही होता है।

लेकिन अब सरकार द्वारा इसे किसान से खरीद लिए जाने पर सरकार इससे biogas और CNG बना लेती है बदले में किसान भाई को भी अच्छा पैसा मिल जाता है जिससे वो किसी खाद भंडारण(Compost) से उच्च कोटि की खाद ले सकते हैं। 

Galvanising Organic Bio-Agro Resources Scheme के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में Gobar Gas Plant व्यक्तिगत और सामुदायिक स्तर पर लगाये जा रहे हैं। इससे गोबर और अन्य सड़े-गले पदार्थों का उपयोग हो जाएगा और इन सब गंदगियों से होने वाली बीमारियां भी नही फैलेंगी। 

कैसे करें आवेदन (How to apply)

इसके लिए सबसे पहले आप official website पर जाएं। home page पर registration के ऑप्शन पर click करें। जो भी details मांगी गई हो उन्हें भरकर Submit करदें। इस तरह से registration की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी। 

कैसे करें लॉगिन (How to login)

पुनः official website पर जाएं। वहाँ login ले option पर क्लिक करें। अब अपना username, password और captcha डालें। अब login पर क्लिक करदें। 

क्या क्या लगेंगे दस्तावेज (What are the necessary documents)?

इस योजना के लिए आवेदन करते समय निम्न दस्तावेज को अपने पास रखें : 

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र (Income certificate)
  • निवास प्रमाण पत्र (Domicile certificate)
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल ID

गोबर धन योजना 2022 अयस्क के लाभ इस प्रकार हैं:-

  • इस योजना से देश के हर समुदाय का हर किसान लाभान्वित होगा।
  • इस गोबर धन योजना के लागू होने से स्वच्छता में कमी आएगी और किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
  • इस योजना के तहत गांव के प्रत्येक किसान से गाय की खाद खरीदकर बायोगैस का उत्पादन किया जाएगा।
  • इस कार्यक्रम का लाभ उठाने के लिए सरकार ने किसानों के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है।
  • इस कार्यक्रम का लाभ लेने के लिए किसानों को वेब पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा।
  • केंद्र सरकार ने इस कार्यक्रम के लिए 115 जिलों को चुना है, जहां विभिन्न आवश्यकताओं में निवेश किया जाएगा और उन्हें प्रेरणा स्रोत के रूप में बढ़ावा दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक गांव स्वच्छता का प्रदर्शन करेगा।
  • इस योजना के तहत बीमारियों पर नियंत्रण आसान होगा।

गोवर्धन योजना का क्रियान्वयन (Implementation)

  • ग्राम पंचायत प्रत्येक गांव के प्रत्येक घर में पांच से अधिक जानवरों के साथ व्यक्तिगत बायोगैस संयंत्र स्थापित करेगी।
  • ऐसे घरों में 1 से 3 घन मीटर का बायोगैस प्लांट बनाया जाएगा।
  • ग्राम पंचायत में अधिक पशु होने पर 4-10 मीटर की क्षमता वाला एक मानक बायोगैस संयंत्र लगाया जाएगा।
  • एजेंसी के माध्यम से इस योजना को जिलों में क्रियान्वित किया जाएगा।
  • एजेंसी कम से कम तीन साल पुरानी होनी चाहिए।
  • डीडब्ल्यूएससी हर जिले में होने वाले कार्यक्रम पर नजर रखेगी।
  • हर चार महीने में इस कार्यक्रम के तहत लगाए गए सभी संयंत्रों की जांच की जाएगी।
  • राष्ट्रीय आईएमआईएस पोर्टल पर निगरानी रिपोर्ट पोस्ट की जाएगी।
  • इस योजना द्वारा वित्तपोषित प्रत्येक परियोजना का वार्षिक ऑडिट किया जाएगा।

गोबर धन योजना बायोगैस Plant Size

Capacity of Biogas Plant (m³)number of animalsQuantity of Dung (kg)number of persons to cook
12-3252-3
23-4504-5
35-6757-8
47-810010-11
610-1215011-16
यह भी पढ़ें:

FAQs: Gobar Dhan Yojana

What Is Gobar Dhan Yojana?

The Government of India introduced GOBAR-Dhan in April 2018 as a part of the Swachh Bharat Mission (Grameen) (SMB-G) Biodegradable Waste Management component to improve rural cleanliness and produce wealth and energy from livestock and organic waste.

How Do You Log In To Gobar Dhan Yojana Portal?

1. You must visit the official website to log in. As soon as the site loads, you will notice the option to login along the right side.
2. Your account will be logged in as soon as your username and password are entered.

What Does G In The Gobardhan Yojana Stand For?

The GOBAR (Galvanizing Organic Bio-Agro Resources) – DHAN scheme has been introduced by the Ministry of Drinking Water & Sanitation. The Swachh Bharat Mission’s implementation of the program(Gramin).

What Advantages Does The PM Gobar Dhan Yojana Offer?

The country’s rural areas would experience an improvement in cleanliness thanks to this plan. In addition to this, infectious diseases will also be eliminated. The management of animal waste and organic garbage in the communities will also provide a source of additional income for the nearby farms.

Leave a Comment