RGGBKMNY: Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana क्या है? कैसे मिलेगा इसका लाभ, जाने विस्तार से

RGGBKMNY: Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana क्या है? कैसे मिलेगा इसका लाभ, जाने विस्तार से

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana: भारत में ऐसी कई योजना लागू है जिसके तहत गरीबों को सहायता दिया जाता है सरकार की ओर से और अब ऐसी ही एक योजना की शुरुआत की गई है राहुल गांधी के द्वारा।

आपको बता दें गरीब भूमिहीनों के लिए ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय  योजना की शुरुआत की गई है छत्तीसगढ़ में। छत्तीसगढ़ राज्य में राहुल गांधी ने राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना (Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Mazdoor Yojana) की शुभारंभ की है, इस योजना के तहत राज्य सरकार हर साल गरीब किसानों को 6000 रुपए प्रदान करेगी। 

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना के तहत हर साल आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को ₹6000 प्रदान किया जाएगा। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर है इस योजना की शुरुआत की गई है। छत्तीसगढ़ राज्य में जितने भी भूमिहीन किसान हैं उनके बैंक खाते में राहुल गांधी ने पहले किश्त के पैसे सीधे पहुंचाएं हैं। 

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana की शुरुआत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की थी। इस योजना का मूल उद्देश्य ये है कि किसानों की फसल को दुगना कर सकें, इस योजना के लिए भूपेश बघेल ने 5100 करोड़ का बजट बनाया है। किसानों को प्रति एकड़ 10000 रुपए की राशि प्रदान की जाएगी।

इस योजना को फिलहाल छत्तीसगढ़ में ही लागू किया गया है और इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ के किसान ही उठा पाएंगे फिलहाल। इस योजना के लिए वही किसान पात्र होंगे जो गन्ना, मक्का और धान की खेती करते हो। 

देश के अन्य अन्य राज्य में किसानों के लिए राज्य सरकार कई तरह की योजना लागू कर रही है इन दिनों जिसके मदद से किसान अपने फसलों को उच्च गुणवत्ता के साथ उगा पा रहे हैं। 

तो चलिए जानते हैं इस योजना के लिए आवेदन करने हेतु क्या-क्या जरूरी बातें ध्यान में रखना होगा 

  • इस योजना में आवेदन करने के लिए किसान छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हो
  • इस योजना में सभी कैटेगरी (Category) के किसान आवेदन कर सकता है 
  • आवेदन करने के लिए आपके पास जरूरी दस्तावेज होने चाहिए जैसे आधार कार्ड (Aadhar Card), मोबाइल नंबर (Mobile number), बैंक अकाउंट की पासबुक (Bank Passbook), पहचान पत्र (Identity proof) और एड्रेस प्रूफ (Address proof)

राजीव गांधी किसान योजना किसानों के कल्याण के लिए शुरू किया गया था और फसल को दुगना करने के लिए, और इस योजना के माध्यम से वर्ष 2019 से किसानों को सहायता राशि प्रदान की जा रही है।

इस योजना के तहत साल 2019 में करीब 19 लाख किसानों को 5000 करोड़ से भी ऊपर की सहायता राशि प्रदान की गई है। इसके अलावा साल 2020 में गन्ना और दान के किसानों को किस्त के रूप में आदान सहायता राशि प्रदान किया गया था। खबरों के मुताबिक पहले किस्त की राशि 1525 करोड़ से ऊपर की थी।

3,55,000 किसानों को योजना के तहत शामिल किया गया 

आपको बता दें छत्तीसगढ़ राज्य में 300000 से भी ज्यादा परिवारों को इस योजना में शामिल किया गया है इनके पास कृषि भूमि नहीं है, जो अपने जीवन यापन मजदूरी करके बिताते हैं।

आपको बता दें इस योजना के प्के लिए बजट में 200 करोड़ का प्रावधान रखा गया है। भूपेश सरकार की छत्तीसगढ़ राज्य में किसानों को ₹6000 का आर्थिक सहायता दिया जाएगा जिससे किसान अपनी जीवन यापन अच्छे से कर पाएंगे। 

इस योजना के तहत मजदूरों के बैंक खाते में हर साल तीन किस्तों में ₹6000 प्रदान किए जाएंगे, राहुल गांधी ने इस योजना की शुरुआत करते हुए 3 लाख 55 हजार लाभार्थियों के बैंक खाते में पहले किस्त के 2000 रुपए की राशि जमा कर दी है। 

कैसे मिलेगा मजदूरों को इसका लाभ 

इस योजना के लिए वह किसान आवेदन कर सकते हैं जिनके पास खेती के लिए जमीन नहीं है और वह मजदूरी करके अपना खर्चा उठाते हैं, मजदूरी करने वाले किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा भूमिहीन किसानों को तीन किस्तों में सालाना ₹6000 दिए जाएंगे।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि इस योजना से मैं यह नहीं कह रहा कि गरीबी कम हो जाएगी लेकिन इससे उन किसानों का बोझ थोड़ा हल्का होगा और इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों के अंतर्गत चरवाहा, बढ़ाई, लोहार, मोची, धोबी और पुरोहित जैसे पौने- पोसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार  समय-समय पर नियत दूसरे वर्ग भी पात्र होंगे योजना के लिए। 

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana 2022

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana 2022: भारत एक कृषि प्रधान देश है और भारत में ऐसे कई योजना लागू है जिसके तहत किसानों को कई तरह के लाभ होते हैं, सरकार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए हर वक्त प्रयास करती रहती है नई नई योजना लागू कर के।

राजीव गांधी के पुण्य तिथि पर शुरू की गई योजना 

छत्तीसगढ़ के सरकार ने बढ़ती मांग और खपत को देखते हुए इस योजना की शुरुआत की है राजीव गांधी के पुण्यतिथि पर, इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ राज्य में फसल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कृषि सहायता  खरीफ 2019 में पंजीकृत उपार्जित रकबे के आधार पर मक्का, धान, और गन्ना के फसल के लिए ₹10,000 प्रति एकड़ की किसानों के बैंक खाते में पहुंचाया जाएगा।

किन्हें मिलेगा इसका लाभ?

साथियों अगर आप छत्तीसगढ़ के निवासी हैं तभी आपको इसका लाभ मिलेगा। कुछ और भी बातें आपको ध्यान में रखना होगा जैसे की आवेदक के पास कोई जमीन नही होनी चाहिए यानी सिर्फ भूमिहीन को ही इसका लाभ मिलेगा। आवेदक के साथ-साथ परिवार के किसी भी सदस्य के पास भूमि नही होनी चाहिए। यदि आवेदन कर्ता के पास आवासीय भूमि है तो आप आवेदन कर सकते हैं और आपको इसका लाभ मिलेगा।

यहा एक बात आप जान लें कि यदि परिवार के मुखिया, जिन्होंने आवेदन किया था, उनकी मृत्यु हो जाती है तो परिवार द्वारा फिर से नया आवेदन करना होगा।

ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लाभार्थी

  • चरवाहा
  • बड़ाई
  • लोहार
  • मोची
  • नाई
  • धोबी
  • पुरोहित
  • पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार
  • वनोपज संग्राहक तथा शासन द्वारा समय-समय पर निर्यात अन्य वर्ग

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana रजिस्ट्रेशन स्टैटिसटिक्स

कुल पंजीयन435574
स्वीकृत पंजीयन355262
जनपद में लंबित पंजीयन3726
तहसील में लंबित पंजीयन646
2021-22 के प्रथम किस्त प्राप्त हितग्राही352793
2021-22 के द्वितीय किस्त प्राप्त हितग्राही352701
2022 देश के प्रथम किस्त प्राप्त हितग्राही352428

कैसे करें इस योजना में आवेदन (How to Apply for Rajiv Gandhi Gramin Krishi Mazdoor Scheme)

राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत आवेदन करने के लिए लाभार्थी के पास आधार कार्ड, वोटर आईडी, इनकम प्रूफ, भूमिहीन कृषि मजदूर दस्तावेज, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ और मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है।

अगर आपके पास यह सब है तो आप राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के आधिकारिक वेबसाइट Click To Apply Online पर जाकर आवेदन कर सकते हैं या फिर आप सीएससी सेंटर जाकर भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करने के बाद तहसीलदार द्वारा सत्यापित कराने के बाद आपका नाम सूची में आ जाएगा और इस योजना का लाभ मिलने लगेगा। 

कौन-कौन से व्यवसाय आते हैं इसके अंतर्गत?

साथियों अगर आप निम्न में से कोई धन्धा करते हैं और आपके पास आवासीय भूमि के अलावा कोई भूमि नही है तो आप इस राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का लाभ ले सकते हैं :

  • गाय भैंस चराने वाले चरवाहे
  • लकड़ी का काम करने वाले बढई
  • लोहे का काम करने वाले लोहार
  • जूता सिलने वाले मोची
  • बाल काटने वाले नाई
  • कपड़ा धुलने वाले धोबी
  • पुरोहित
  • पान बीड़ी बेचने वाले लोग

कौन-कौन से व्यवसाय नही आते इसके अंतर्गत?

दोस्तों! मंत्रालय की तरफ से बाकायदा नोटिफिकेशन जारी कर यह बताया गया है कि कौन सा नौकरी-पेशा करने वाले लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं और कौन से नही। नीचे हमने पूरी लिस्ट दे दी है जिन्हें इसका लाभ नही मिलेगा :

  • वकील, डॉक्टर, इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंटेंट
  • वह व्यक्ति जो हाल ही में income tax return fill किया हो
  • ग्राम पंचायत का वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष
  • दैनिक वेतम पर काम करने वाले लोग
  • जनपद पंचायत का वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष
  • नगरीय क्षेत्र में आने वाले परिवार

कैसे करें आवेदन?

  1. सबसे पहले आप अधिकारिक वेबसाइट पर जाएंगे।
  2. होम पेज पर आपको ऑनलाइन आवेदन करने का विकल्प मिलेगा, इसके बाद आपके सामने दिशानिर्देश पेज आएगा जिसे आप को पढ़ना है।
  3. इसके बाद आपको कंटिन्यू (Continue) पर क्लिक करके आगे बढ़ना होगा और आवेदन पत्र को ध्यान पूर्वक भरना होगा।
  4. सबमिट करने के बाद आपका आवेदन न्याय योजना के तहत हो जाता है।
  5. अंत में आप रिसिप्ट को प्रिंट (Receipt Print) करा लें और अपने पास रख ले।
अधिक पढ़ें:

Leave a Comment