Mustard oil Cultivation: इस साल हो सकता है सरसों का तेल सस्ता, किसानों की भी आय होगी दुगनी

Mustard Oil Cultivation: देशभर में पिछले साल सरसों के तेल का दाम काफी बढ़ गया था जिससे लोगों में काफी ज्यादा नाराजगी देखने को मिली थी, लेकिन सरसों के तेल को लेकर एक बड़ा खबर सामने आया है जिसके तहत बोला यह जा रहा है कि साल 2022 में सरसों के तेल का दाम कम हो सकता है, और किसानों की आय भी भी दुगनी हो सकती है। आपको बता दें रबी सीजन (Rabi Season) के दौरान देशभर में करीब 110 लाख टन सरसों का उत्पादन होगा। इससे पहले 2020-2021 के फसल बर्ष में 85 लाख टन सरसों का उत्पादन हुआ था, जिससे सरसों के तेल में कमी देखने को मिली। अगर आप महंगाई के मार से परेशान हैं तो आपके लिए यह खबर एक अच्छी खबर साबित हो सकती है, क्योंकि इस साल सरसों के तेल के दाम में कमी आ सकती है।

Mustard oil Cultivation  

Mustard oil Cultivation

2021-2022 में होगी ज्यादा उत्पादन 

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि इस साल यानी 2021-22 के रबी सीजन में पिछले साल के मुकाबले 25 लाख टन अधिक सरसों का तेल उत्पादन होगा। आपको बता दें सरसों का रुकवा 81.66 लाख हेक्टर हो गया है जो पिछले साल 65.97 हेक्टर था। इस साल सरसों के उत्पादन में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी जिससे किसानों को भी फायदा मिलेगा और आम जनता को भी सरसों के तेल के दामों में कमी देखने को मिलेगी। 

आपको बता दे राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्य में बारिश के कारण सरसों की फसल में मामूली नुकसान देखने को मिले हैं मगर अंदाज़ा लगाया जा रहा है इसके बावजूद किसानों को इस बार सरसों की बंपर पैदावार देखने की उम्मीद है।

किसानों की आय बढ़ेगी  

सेंट्रल ऑर्गेनाइजेशन फॉर ऑयल इंडस्ट्री एंड ट्रेड (Central Organization for oil industry and trade) के मुताबिक इस साल रबी सीजन के दौरान देशभर में करीब 110 लाख टन सरसों का उत्पादन होने वाला है, इससे पहले साल 2020-21 में सरसों का उत्पादन 85 लाख टन था। मिली जानकारी के मुताबिक इस साल राजस्थान सहित सभी राज्य में सरसों की बुवाई ज्यादा हुई है और ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि रबी सीजन के दौरान उत्पादन 100 से लेकर 110 लाख टन तक पहुंच सकता है। बाबूलाल टाटा का कहना यह है कि किसानों को रबी के पिछले सीजन सरसों की फसल के अच्छे दाम मिले हैं और परिणाम स्वरूप इस सीजन उन्होंने ज्यादा जमीन पर सरसों की बुवाई की है, और मौसम की परिस्थितियों के अनुकूल बनी हुई है, इस साल किसानों की आय भी दुगनी हो सकती है। 

वर्ष 2020-21 में सरसों के भाव 10000 रुपए प्रति क्विंटल के आसपास पहुंच गया था, और ये भी बताया जा रहा है कि सरसों के भाव में इस बार भी तेजी रहने की पूरी उम्मीद है। सरसों के भाव ज्यादा होने से किसानों को भी इसका लाभ मिलता है और इससे किसानों को अच्छा मुनाफा कमाने को मिलता है। 

अगर आप एक किसान है और सरसों के तेल की मील खोलना चाहते हैं तो आपको कुछ उपकरण की जरूरत पड़ेगी

  1. ऑयल एक्सपेलर मशीन
  2. एक मोटर 20 HP की
  3. फ़िल्टर प्रेस मशीन
  4. गैलन 
  5. बॉक्स स्ट्रैपिंग मशीन 
  6. भजन मशीन 
  7. सील मशीन 

Leave a Comment